Amaira Dastur : ओटीटी का शुक्रिया, पहले लोगों को अंतिम नाम के कारण नहीं मिलता था काम

 
Amaira Dastur : ओटीटी का शुक्रिया, पहले लोगों को अंतिम नाम के कारण नहीं मिलता था काम

अभिनेत्री अमायरा दस्तूर ने कहा कि ओटीटी के आगमन के साथ ही शोबिज में कास्टिंग गेम बदल गया है। उन्हें लगता है कि लोग अब अपनी प्रतिभा के कारण प्रोजेक्ट कर रहे हैं और अब पारिवारिक कनेक्शन होना जरुरी नहीं है। अमायरा ने आईएएनएस को बताया, “मुझे लगता है कि ओटीटी ने कास्टिंग का खेल बदल दिया है। दर्शकों को पता है कि कौशल के कारण लोगों को कास्ट किया जा रहा है। उनके अंतिम नाम से नहीं।”

वह कहती हैं कि बेहतर प्रदर्शन करने वाले अभिनेताओं से ज्यादा, डिजिटल स्पेस ने निर्देशकों और लेखकों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका दिया है। उन्होंने कहा, “अभिनेताओं से अधिक, मुझे लगता है कि ओटीटी निर्देशकों और लेखकों के लिए एक ब्रेकआउट रहा है। किसी भी अच्छे शो ने लेखकों का अच्छा प्रदर्शन किया है। हमारे जैसे अभिनेताओं के लिए यह आसान है, जैसा कि हमें लाइनें मिलती हैं लेकिन लेखकों को सब कुछ लिखना पड़ता है। ओटीटी ने हमें आज भारत के कुछ महान लेखकों को दिया है।”

अमायरा ने जैकी चैन अभिनीत अंतर्राष्ट्रीय मार्शल आर्ट ड्रामा ‘कुंग फू योगा’ में काम किया, इसके अलावा बॉलीवुड में ‘प्रस्थनम’, ‘मेड इन चाइना’, ‘मिस्टर एक्स’, ‘जजमेंटल है क्या’ और हाल ही में, ‘कोई जाने ना’ जैसे ओटीटी स्पेस में काम किया साथ ही वह वेब श्रृंखला ‘तांडव’ का हिस्सा रही हैं।

अभिनेत्री ने हाल ही में संगीत वीडियो ‘वाह जी वाह’ में भी काम किया। उसी के बारे में बात करते हुए, वह कहती हैं कि उन्हें गाने की धुन पसंद आई और उन्होंने तुरंत हां कह दिया।

गाने को पंजाबी सिंगर गुरनजर चट्टा ने गाया है, जिन्होंने नंबर भी लिखा है।

अभिनेत्री ने कहा कि संगीत वीडियो के लिए यह सही समय है, क्योंकि लॉकडाउन के कारण लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं।

–आईएएनएस

From around the web