Manoranjan Nama

विक्की कैट की इस एक हरकत की वजह से यहॉँ एक रात के अब चुकाने पड़ते हैं 7 लाख रूपये 

 
fg

मनोरंजन न्यूज़ डेस्क !!! राजस्थान अपने खूबसूरत किलों और महलों के लिए विश्वभर में जाना जाता है। कला और संस्कृति के इस अनूठे संगम, शाही ठाठ बाठ समेत राजपुताना वास्तुकला का आनंद उठाने दुनिया के कोने-कोने से पर्यटक यहां आते हैं। राजस्थान के विश्वप्रसिद्ध किलों में शुमार बरवाड़ा फोर्ट  राजपूती वास्तुकला का एक नायाब उदहारण है। 

इस किले को चौथ का बरवाड़ा फोर्ट के नाम से भी जाना जाता है। ये किला सवाई माधोपुर से करीबन 25 किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ है, जिसका ताल्लुक बरवाड़ा राज परिवार के राजा मानसिंह के परिवार से है। इस किले को वर्तमान राजपरिवार के सदस्य पृथ्वीराज सिंह ने अपने पूर्वजों की इस निशानी को बेहद खूबसूरती से सहेजने का काम किया है। उन्होंने दूर-दूर तक फैले इस किले के एक हिस्से का पुर्निर्माण करवा उसे अंतर्राष्टीय होटल ग्रुप सिक्स सेंस को लीज़ पर दिया है। इसी के चलते इसे सिक्स सेंस बरवाड़ा फोर्ट के नाम से जाना जाता है। 

यह किला लगभग 700 वर्ष पुराना है और इसे 14वीं शताब्दी में चौहान राजाओं ने बनवाया था। यह  रणथंबोर राज्य वंश और बूंदी राज्य वंश का भी हिस्सा रह चुका है। बाद में यह किला राजावत राज्य वंश के राजा मानसिंह के पास चला गया। इस किले की भव्यता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 5.5 एकड़ में फैला ये दुर्ग 5 फुट मोटी चट्टान की दीवार से घिरी हुआ है, जो कुछ हिस्सों में 20 फुट तक ऊंची है। राजपूताना शैली से बने इस किले के झरोखों से आप झील और अद्भुत दृश्यों का लुत्फ उठा सकते हैं। ऐतिहासिक रूप से फोर्ट बरवाड़ा का इस्तेमाल युद्ध के समय में सैनिकों, हथियारों और गोला-बारूद को रखने के लिए किया जाता था। इस किले की मुख्य बिल्डिंग में चौथ भवानी मंदिर है, जिसे पहाड़ पर 1100 फीट की ऊंचाई पर बनाया गया है। यह मंदिर वर्ष 1451 में महाराजा भीम सिंह चौहान ने बनवाया था। इसी मंदिर के नाम पर गांव का नाम चौथ पड़ा है। और इसी मंदिर के नाम पर इसके गांव को भी चौथ का बरवाड़ा कहा जाता है।

शहर में प्राचीन चौथ माता मंदिर को देखने के लिए भी भक्तों की खासी भीड़ जुटती है। चौथ माता मंदिर की गिनती  सवाई माधोपुर के सबसे विशेष और प्राचीन मंदिरों में की जाती है। इस मंदिर की स्थापना 1451 में वहां के शासक भीम सिंह ने की थी। एक हज़ार फीट उंची पहाड़ी पर स्थित इस मंदिर तक पहुंचने के लिए 700 सीढ़ियां चढ़नी पड़ती हैं। यहां सालाना करवा चौथ के अवसर पर चौथ माता का मेला लगता है। ऐसी मान्यता है कि जो भक्त पूरे मन और श्रद्धा से चौथ माता की आराधना करते हैं उनका दांपत्य जीवन हमेशा खुशहाली से भरपूर रहता है।

साल 2021 में यहां हुई बॉलीवुड सितारे कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की डेस्टिनेशन वेडिंग ने बरवाड़ा फोर्ट को विश्व विख्यात कर दिया। फोर्ट में शाही अंदाज़ में हुई इस शादी में रजवाड़ा रीति रिवाजों की झलक भी देखी गई थी। राजस्थानी शैली से हुई इस शादी के लिए विशेष इंतज़ामात किए गए थे, जिन्हें देखकर विश्व में हर कोई हैरान रह गया था। भारतीय और अंतर्राष्टीय मीडिया ने तीन दिन तक चली इस स्टार कपल वेडिंग की कवरेज कर इस किले के होटल बनने का सफर दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचा दिया। 

बरवाड़ा फोर्ट को होटल का शाही रूप देने में करीब 80 करोड़ रुपए खर्च हुए।  इस होटल में विश्विस्ठर की सुख सुविधा की सारी व्यवस्था की गई है। यहां आपको खाने-पीने के साथ-साथ बार, लाउंज, स्‍पा, फिटनेस सेंटर, स्विमिंग पूल, बैंक्वेट स्‍पेस और किड्स क्लब आदि सभी कुछ मिल जाएगा। इतना ही नहीं, यहां रहने वालों को इस रॉयल फोर्ट का खूबसूरत नजारा भी देखने को मिलेगा। पूरे होटल को शेखावाटी आर्ट से सजाया और संवारा गया है। यहां आपको जगह-जगह दीवारों और छतों पर पुराना आर्ट वर्क देखने को मिलेगा। इस होटल से मात्र 30 मिनट की दूरी पर रणथंबोर नेशनल टाइगर रिजर्व है। होटल की तरफ से विजिटर्स को सफारी पर भी ले जाया जाता है। 

इस होटल में लगभग 100 कमरे हैं और एक रात इस होटल में रुकने का न्यूनतम खर्चा लगभग 1 लाख रुपए के करीब पड़ सकता है। सिक्स सेंस बरवाड़ा फोर्ट में 48 शाही सुइट्स हैं, जो आधुनिक सुख-सुविधाओं से सुसज्जित हैं। कुछ कमरों से ग्रामीण इलाकों के नज़ारे दिखाई देते हैं, तो कुछ से अरावली रेंज के अद्भुत नज़ारों का आनंद लिया जा सकता है। इनमें सबसे खूबसूरत है रानी राजकुमारी सुइट, जहां से दिखने वाले झील, चौथ का बरवाड़ा मंदिर और अरावली रेंज के नज़ारे आपका दिल जीत लेंगे। यहां एक रात रुकने की बुकिंग करीब 77,000 रुपए है और अगर इसमें टैक्स जोड़ दिया जाए तो ये खर्च आपका 90,000 के आसपास आ सकता है। लेकिन दिलचस्प बात तो ये है कि ये खर्च केवल एक सामान्य कमरे का ही है। अगर रॉयल सुइट्स की बात की जाए तो, वहां एक रात रुकने का खर्च लगभग 4 लाख 94 हजार रुपए है। इसमें टैक्स जोड़ने के बाद यहां रुकने के लिए आपको करीब 5 लाख 8 हजार रुपए खर्च करने पड़ सकते हैं।

अगर आप भी सिक्स सेंस बरवाड़ा फोर्ट घूमने का प्लान कर रहे हैं तो आप यहां  हवाई, रेल और सड़क मार्ग से  पहुंच सकते हैं। हवाई मार्ग से यहां पहुंचने के लिए सबसे निकटतम हवाई अड्डा जयपुर एयरपोर्ट हैं, जो यहां से करीब 110 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। रेल मार्ग से यहां पहुंचने के लिए सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन सवाई माधोपुर स्टेशन है, जो यहां करीब 24 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। सड़क मार्ग से यहां पहुंचने के लिए सबसे निकटतम बस अड्डा सवाई माधोपुर है, जो यहाँ से करीब 27 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है।

Post a Comment

From around the web