मजहब खूबसूरत हैं, लेकिन कभी-कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी है : Natalia Dyer

 
jlxdj

फिल्म ‘येस गॉड येस’ में नजर आ रहीं भिनेत्री नतालिया डायर का मानना है कि मजहब एक खूबसूरत चीज है, लेकिन कभी—कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी हो जाता है। नतालिया कहती हैं, “मेरा मानना है कि मजहब खूबसूरत है, लेकिन कभी—कभार इससे एक कदम पीछे हटना भी जरूरी है ताकि आप यह सोच सके कि आपने क्या सीखा है और आपके हिसाब से आप क्या जानते हैं क्योंकि इन जिज्ञासाओं के बिना आप खुद को खोने लगते हैं, जो आप वास्तव में हैं।”

वह आगे कहती हैं, “इसलिए मेरा मानना है कि अपना दिमाग खुला रखें और लोगों को गलतियां करने दें ताकि इन्हीं गलतियों से उन्हें सीख मिले और इस पर आगे वे अपनी बात रख सके।”

फिल्म ‘येस गॉड येस’ की कहानी एक टीएनजर के सफर को लेकर है, जो विवाह पूर्व यौन संबंध और यौन जिज्ञासाओं पर कैथोलिक विचारों को सीखने के माध्यम से आगे बढ़ता है, जिन पर आज कल पॉप कल्चर का प्रभाव बढ़ गया है।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

From around the web