Nusrat Bharucha : ‘अजीब दास्तां’ ने रूढ़िवादी धारणा को तोड़ने में मदद की

 

बॉलीवुड अभिनेत्री नुसरत भरूचा का कहना है कि उनकी आगामी फिल्म ‘अजीब दास्तां’ की शूटिंग के दौरान शानदार समय बिताया। वह कहती हैं कि इस फिल्म में उनकी भूमिका ने रूढ़िवादी धारणा (स्टीरियोटाइप) को तोड़ने में मदद की है। अभिषेक बनर्जी और इनायत वर्मा के साथ राज मेहता द्वारा निर्देशित ‘खिलौना’ नाम के सेगमेंट में नुसरत घरों में काम करने वाली लड़की का किरदार निभा रही हैं, जिसमें उनका नाम मीनल है। कहानी उनके और उनकी बहन के लिए एक सभ्य जीवन पाने के लिए उसके किए गए संघर्ष को उजागर करती है और इसके अंत में एक चौंकाने वाला मोड़ भी देखने को मिलता है।

नुसरत ने कहा, “हमने फिल्म की केवल आठ दिनों तक शूटिंग की, लेकिन मैं बेहद ईमानदारी के साथ कहूं तो मैंने किसी अन्य फिल्म की शूटिंग में, जिसमें मैंने काम किया है, इतना मजा नहीं लिया है। राज एक प्रतिभाशाली है, लेकिन साथ ही वह प्रफुल्लित करने वाला, मजेदार और काफी कूल भी है। वह वास्तव में एक जोशीले फिल्म निर्माता हैं और वह फिल्म के निर्देशन और सेट पर होने की प्रक्रिया का आनंद उठाते हैं।”

नुसरत ने शूटिंग प्रक्रिया के दौरान आनंद लेते हुए काम करने पर जोर दिया। नुसरत कहती हैं कि इस फिल्म का किरदार उनकी पहले की भूमिकाओं से बहुत अलग है।

नुसरत ने कहा कि उन्होंने रूढ़िवादी धारणा से बाहर निकलकर अनुभव प्राप्त किया है।

‘अजीब दास्तां’ 16 अप्रैल को नेटफ्लिक्स पर रिलीज होगी। इसमें फातिमा सना शेख, जयदीप अहलावत, अभिषेक बनर्जी, इनायत वर्मा, कोंकणा सेन शर्मा, अदिति राव हैदरी, शेफाली शाह, मानव कौल और टोटा रॉय चौधरी भी दिखाई देंगे।

रयूज सत्रेात आईएएनएस

From around the web