अभिनय एक बहुत ही अप्रत्याशित पेशा है : Mehul Nisar

 
a

‘संतोषी मां – सुनाएं व्रत कथाएं’ में काम कर रहे अभिनेता मेहुल निसार का कहना है कि शोबिज एक बहुत ही अप्रत्याशित पेशा है। उनका यह भी कहना है कि कई बार पैसा उनके लिए काम चुनने का पैमाना रहा है।

मेहुल ने आईएएनएस को बताया, “हर कलाकार को इनाम के पहलू पर विचार करना होता है क्योंकि किया गया काम कड़ी मेहनत और प्रयास का परिणाम होता है। अभिनय एक बहुत ही अनिश्चित पेशा है, यह कुछ मायनों में मौसमी है। कभी-कभी आपका काम महीने में 30 दिनों का होता है और कभी-कभी आप घर पर महीनों खाली बैठे रहते हैं।”

हालांकि, अभिनेता ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में उनके लिए चीजें वास्तव में बदल गई हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि पिछले कुछ वर्षों में चीजें काफी बदल गई हैं। मैं काफी भाग्यशाली हूं कि मुझे कई तरह की भूमिकाएं निभाने का मौका मिला है। मैंने अपने करियर की शुरूआत 1998 में ‘हिप हिप र्हुे’ से की थी, जिसमें मैंने एक स्कूली बच्चे की भूमिका निभाई थी। धीरे-धीरे मैंने नायक के छोटे भाई और फिर बड़े भाई की भूमिका निभानी शुरू की। बाद में मैंने नायक के लिए चाचा का किरदार निभाना शुरू किया। और अब मैं नायक के पिता की भूमिका निभा रहा हूं। ऐसा लगता है जैसे मेरे साथ मेरे किरदार भी उम्रदराज होते जा रहे हैं।”

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

From around the web