इस विशेष दिन रामयुग टीम ने अमिताभ बच्चन, उस्ताद ज़ाकिर हुसैन कासंगीत वीडियो किया रिलीज़

 
इस विशेष दिन रामयुग टीम ने अमिताभ बच्चन, उस्ताद ज़ाकिर हुसैन कासंगीत वीडियो किया रिलीज़

कुणाल कोहली द्वारा निर्देशित वेब श्रृंखला रामयुग जल्द ही स्ट्रीमिंग सेवा एमएक्स प्लेयर पर रिलीज होगी। भव्य लॉन्च से पहले, निर्माताओं ने हनुमान जयंती के अवसर पर एक विशेष संगीत वीडियो जय हनुमान साझा किया वीडियो में अमिताभ बच्चन द्वारा गायन की विशेषता है, वहीं सजाया गया संगीतकार उस्ताद ज़ाकिर हुसैन भी दिखाई देता है। संगीत राहुल शर्मा ने तैयार किया है, जिसके बोल अमन अक्षर द्वारा लिखे गए हैं। क्लिप में रेत कला को प्रतिभाशाली राहुल आर्य द्वारा जीवन में लाया गया है।हम तुम और फना जैसी फिल्मों का निर्देशन करने के लिए जाने जाने वाले कुणाल कोहली आगामी वेब श्रृंखला का आयोजन कर रहे हैं, जिसे सबसे बड़ी भारतीय पौराणिक नाटकों में से एक के रूप में देखा जा रहा है। कोहली ने आखिरी बार ZEE5 फिल्म लाहौर गोपनीय का निर्देशन किया था, जिसमें ऋचा चड्ढा, अरुणोदय सिंह और करिश्मा तन्ना ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।रामयुग का ट्रेलर 29 अप्रैल को रिलीज होगा। वेब सीरीज की रिलीज की तारीख अभी घोषित नहीं हुई है

वही बात करे अमिताभ कीतो  अमिताभ बच्चन हिन्दी फिल्मों के अभिनेता हैं। हिन्दी सिनेमा में चार दशकों से ज्यादा का वक्त बिता चुके अमिताभ बच्चन को उनकी फिल्मों से ‘एंग्री यंग मैन’ की उपाधि प्राप्त है। वे हिन्दी सिनेमा के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली अभिनेता माने जाते हैं। उन्हें लोग ‘सदी के महानायक’ के तौर पर भी जानते हैं और प्‍यार से बिग बी, शहंशाह भी कहते हैं।सदी के इस महानायक ने भी राजनीति में अपनी किस्‍मत आजमायी थी वे राजीव गांधी के करीबी दोस्‍त थे इसलिये उन्‍होंने कांग्रस पार्टी जॉइन की थी और इलाहाबाद से देश आठवें आम चुनाव में ताकतवर नेता एच एन बहुगुणा को हराया था। लेकिन उन्‍हें यह राजनीति का संसार बहुत भाया और

उन्‍होंने मात्र तीन साल में इससे अलविदा ले लिया। अमिताभ बच्चन की शुरूआत फिल्मों में वॉयस नैरेटर के तौर पर फिल्म 'भुवन शोम' से हुई थी लेकिन अभिनेता के तौर पर उनके करियर की शुरूआत फिल्म 'सात हिंदुस्तानी' से हुई। इसके बाद उन्होंने कई फिल्में कीं लेकिन वे ज्यादा सफल नहीं हो पाईं। फिल्म 'जंजीर' उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने लगातार हिट फिल्मों की झड़ी तो लगाई ही, इसके साथ ही साथ वे हर दर्शक वर्ग में लोकप्रिय हो गए और फिल्म इंडस्ट्री में अपने अभिनय का लोहा भी मनवाया।सात हिंदुस्तानी, आनंद, जंजीर, अभिमान, सौदागर, चुपके चुपके, दीवार, शोले, कभी कभी, अमर अकबर एंथनी, त्रिशूल, डॉन, मुकद्दर का सिकंदर, मि. नटवरलाल, लावारिस, सिलसिला, कालिया, सत्ते पे सत्ता, नमक हलाल, शक्ति, कुली, शराबी, मर्द, शहंशाह, अग्निपथ, खुदा गवाह, मोहब्बतें, बागबान, ब्लैक, वक्त, सरकार, चीनी कम, भूतनाथ, पा, सत्याग्रह, शमिताभ जैसी शानदार फिल्मों ने ही उन्हें सदी का महानायक बना दिया।

From around the web